सॉफ्ट स्किल्स क्या हैं? अपने सॉफ्ट स्किल्स को कैसे विकसित करें?

सॉफ्ट स्किल्स क्या है?

सॉफ्ट स्किल्स आपके व्यक्तित्व लक्षण और व्यवहार है जो आपको नौकरी पाने, करियर में सफल होने और आपको एक बेहतर इंसान बनाने में मदद करती है। आपके सॉफ्ट स्किल्स से यह पता चलता है की आप दूसरों के साथ कैसा व्यवहार करते है और आप अपना काम किस तरह करते है।

image for soft skills

सॉफ्ट स्किल्स के उदाहरण कुछ इस तरह है:

  • Integrity (अपने सिद्धांतों को ईमानदारी से पालन करना, चाहे कोई भी देख रहा हो)
  • Teamwork (टीम के लोगों के साथ मिलकर काम करना)
  • Problem-solving (समस्या का समाधान निकालना)
  • Critical thinking (सर्वोत्तम संभव परिणाम प्राप्त करने के लिए किसी भी स्थिति का विश्लेषण करना)
  • Adaptability (किसी भी परिस्थिति में खुद को सक्षम करने की क्वालिटी)
  • Organization (अपने समय और काम ऐसे मैनेज करने का गुण की जो काम ज्यादा जरुरी है उसे पहले करे)
  • Communication (अपनी बात को दूसरों तक सही तरीके से साझा करना और दूसरों की बात को सही से समझना)

अगर आपका टेक्निकल स्किल्स अच्छा है पर सॉफ्ट स्किल्स नहीं है, आपको नौकरी मिल तो सकती है लेकिन आप अपने करियर में सफल नहीं हो सकेंगे। इंटरव्यू के दौरान भी इंटरव्यू लेने वाला आपके टेक्निकल स्किल्स से ज्यादा सॉफ्ट स्किल्स को चेक करता है। इसलिए यह जरुरी है की आप अपने सॉफ्ट स्किल्स को डेवेलोप करे जिससे आपका इंटरव्यू में सेलेक्ट होने के चान्सेस बढ़ जाए।

सॉफ्ट स्किल्स को कैसे विकसित करे?

सॉफ्ट स्किल्स एक या दो दिन में विकसित नहीं हो सकता। आपको एक नियमित रूप से अपने स्किल को विकसित करने के लिए कार्य करना होगा।

अपने अंदर सॉफ्ट स्किल को विकसित करने के लिए आपको निम्न उपायों का पालन करना होगा:

1. अपनी खामियां पहचाने 

सबसे पहले आपको यह समझना है की आप अपने किस स्किल को विकसित करना चाहते है, इसके लिए जरुरी है की आप अपनी खामियों (weakness) को पहचाने

आपकी खामियों की वजह से आपकी अच्छाइयों पर फर्क पड़ता है। जैसे - आप बहुत चुलबुल व्यक्तित्व के है जो हर किसी को हसाना पसंद करता है और लोग आपके चुटकियों में दोस्त बन जाते है, ये हुई आपकी अच्छाई। लेकिन आपको छोटी-छोटी बात पर गुस्सा आता है या आप चिढ़ जाते है जिसकी वजह से आपके दोस्त बुरा मान जाते है और आपकी अच्छाई व्यर्थ चली जाती है। तो आपको ऐसा गुस्सा आपकी खामी है और आपको इस गुस्से पर काबू करना है।

2. तय करे की कौन सी स्किल को विकसित करना है

आप सभी स्किल्स को एक साथ विकसित नहीं कर सकते। इसलिए अब आप यह तय करे की आप को कौन सी स्किल डेवेलोप करनी है। जैसे - अगर आपने यह पता किया की आपके अंदर अपने काम को देर से करना, रोजाना ऑफिस नहीं जाना, टाइम को सही से मैनेज नहीं करना जैसी खामियां है। आप यह तय करे की इन स्किल्स में से आप सबसे पहले किस खामी को कम करना चाहते है।

3. स्किल डेवेलोप करने का प्लान बनाए और इसका पालन करे

अपनी स्किल को डेवेलोप करने के लिए आपको प्लान बनाने की जरुरत है कि आप कैसे अपनी स्किल को बेहतर करेंगे। जैसे  - अगर आप टाइम मैनेजमेंट की स्किल को बेहतर करना चाहते है तो आप ऐसा प्लान बना सकते है की सबसे पहले आप एक लिस्ट बनाए की पूरे दिन में आपको कौन कौन से काम करने है। उसके बाद हर काम को एक रैंक दे कि कौन सा काम को पहले करना है और कौन सा आखरी में। फिर आप सभी कार्य रैंकिंग के हिसाब से ही करे। और ऐसा आप रोज़ करे, सिर्फ एक दिन नहीं।

4. अपने व्यक्तित्व और व्यवहार की नियमित रूप से निगरानी करे

आपके अंदर स्किल डेवेलोप हो रहा है या नहीं, यह पता करने के लिए एक नियमित रूप से अपने व्यक्तित्व और व्यवहार का निरिक्षण करते रहे। आप एक समय बाँध सकते है कि आप हफ्ते में एक दिन या महीने में एक दिन अपना इंट्रोस्पेक्शन करके चेक कर सकते है की आप जिस स्किल को विकसित करने का प्रयास कर रहे है वह बेहतर हो रहा है या नहीं।

5. निरंतर प्रयास करते रहे

स्किल एक दिन में डेवेलोप नहीं होगा। किसी इंसान को कम समय लग सकता है तो किसी को ज्यादा। इसलिए आप यह ध्यान में रखे की आपको अपने स्किल को बेहतर बनाने के लिए निरंतर प्रयास करना होगा।

उम्मीद है की इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको सॉफ्ट स्किल्स का महत्व समझने में आसानी लगी होगी और आप ऊपर दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके अपने सॉफ्ट स्किल्स को विकसित करेंगे। अगर आपका कोई सुझाव हो तो कमेंट करके शेयर कर सकते है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ